Headlines

नेशनल

हरियाणा में 6 बजे तक 62 फीसदी मतदान
haryana poll.jpg

चंडीगढ़, 22 अक्टूबर (आईएएनएस)| हरियाणा में सोमवार को विधानसभा के 90 सदस्यों के चुनाव के लिए इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) में गड़बड़ियों और कुछ स्थानों पर मामूली झड़पों के बीच 1.83 करोड़ से ज्यादा मतदाताओं में से 62 फीसदी ने मतदान किया। एक निर्वाचन अधिकारी ने आईएएनएस से कहा, "शाम 6 बजे तक 62 फीसदी मतदान हुआ, अभी भी बड़ी संख्या में मतदाता अपने वोट का इस्तेमाल करने के लिए अपनी बारी की प्रतीक्षा कर रहे हैं और मतदान प्रतिशत बढ़ेगा।"

मतदान सुबह 7 बजे शुरू हुआ और शाम 6 बजे समाप्त हुआ।

एक चुनाव अधिकारी ने आईएएनएस से कहा, "दोपहर दो बजे तक 37 प्रतिशत मतदान हो चुका था।"

सबसे ज्यादा मतदान नारनौंद निर्वाचन क्षेत्र में रिकॉर्ड किया गया, इसके बाद गढ़ी सांपला-किलोई में, जबकि सबसे कम मतदान पानीपत सिटी में हुआ।

मुख्य चुनाव अधिकारी अनुराग अग्रवाल ने कहा कि मतदान शांतिपूर्ण रहा।

उन्होंने चंडीगढ़ में मीडिया से कहा, "राज्य में 15 स्थानों पर ईवीएम में मामूली तकनीकी खराबी पाई गई थी और उसे ठीक करने के लिए संबंधित टीमें तुरंत रवाना हो गई थी।"

उन्होंने कहा कि जींद जिले के सिरसा उचाना कलां में डबवाली और मेवात के नूंह से विभिन्न राजनीतिक दलों के समर्थकों के बीच मामूली झड़पों की खबरें आईं, लेकिन स्थिति नियंत्रण में है।

मेवात क्षेत्र के मुस्लिम बहुल नूंह में एक महिला मतदान केंद्र के बाहर दो समूहों के बीच झड़प में घायल हो गई।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने आईएएनएस से कहा कि मौजूदा सरपंच व पूर्व सरपंच के बीच बहस हो गई, जिसके बाद उनके कुछ समर्थकों में झड़प हुई।

जननायक जनता पार्टी (जजपा) ने भाजपा समर्थकों पर उचाना क्षेत्र में बूथ कैप्चरिंग करने का आरोप लगाया। जजपा उम्मीदवार दुष्यंत चौटाला ने दावा किया कि उन पर हमला कर उन्हें धक्का दिया गया।

चुनाव के नतीजे 24 अक्टूबर को महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों के नतीजों के साथ आएंगे।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर मतदान करने चंडीगढ़ से जनशताब्दी एक्सप्रेस द्वारा अपने गृह नगर करनाल पहुंचे और वहां से ई-रिक्शा से घर पहुंचे। घर से मतदान केंद्र तक वे साइकिल से गए।

खट्टर ने करनाल सिटी में संवाददाताओं से कहा, "हम वोट के लिए जनता में गए, उन्होंने हमें स्वीकार किया और अच्छे बहुमत से हम फिर से सरकार बनाने जा रहे हैं।"

करनाल राज्य की राजधानी से 100 किमी दूर है।

हरियाणा के दो बार मुख्यमंत्री रह चुके भूपिंदर सिंह हुड्डा ने पत्नी आशा, बेटा और पूर्व सांसद दीपेंदर और बहू श्वेता मिर्धा के साथ मतदान किया।

खट्टर फिर से करनाल सीट से अपनी किस्मत आजमा रहे हैं जिसे उन्होंने 2014 में अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ 60,000 से अधिक मतों के अंतर से जीता था।

कांग्रेस ने हरियाणा अल्पसंख्यक आयोग के पूर्व अध्यक्ष त्रिलोचन सिंह को खट्टर के खिलाफ खड़ा किया है।

राज्य में 19,578 मतदान केंद्रों पर 27,611 वीवीपैट मशीनें लगाई गई थी।

 

News & Event

Tazaa Khabre