Headlines

नेशनल

नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे में लगभग 2000 करोड़ रूपये की बिजनेस अपॉर्च्युनिटी: टी.पी सिंह

कन्फेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्री (सीआईआई) और नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे के सहयोग से  ’बिजनेस अपॉर्च्युनिटी विद् इंडियन रेलवेज़’ पर बिजनेस अवसरों पर सेशन आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम में रेलवे से जुड़े डिफरेंट बिजनेस आइडियाज और कारोबारी संभावनाओं पर विस्तार से चर्चा की गई। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि एनडब्ल्यूआर (नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे) के जनरल मैनेजरटी.पी. सिंह थे। सैशन के दौरान बताया गया कि नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे के साथ आने वाले 1.5 से 2 साल में लगभग 2000 करोड़ रूपये की बिजनेस अपॉर्च्युनिटी है।

 

नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे के जनरल मैनेजर टी.पी. सिंह ने सैशन को संबोधित करते हुये कहा कि रेलवेज भारत में सभी इंडस्ट्रीज की रीढ़ की हड्डी है। सन् 1853 में भारत में रेलवे की शुरूआत के बाद से ही कभी रूकावट नहीं आयी है तथा इसी के साथ ही सभी उद्योग भी निरंतर आगे बढ़ते रहे है। भारतीय रेलवे में इंस्डट्री के लिए बिजनेस की अपार संभावनायें है।

 

रेलवे की वार्षिक ईंधन खरीद लागत 1100 करोड़ रूपये है, उन्होने समझाया कि रेलवे परिवहन का सबसे बड़ा फ्युल एफिसियंट माध्यम है क्योंकि यह परिवहन का एकमात्र संसाधन है जो कार्बन प्रिंट को कम करता है, आगे बताते हुये उन्होने कहा कि रेलवे अन्य सरकारी क्षेत्रों के मुकाबले सबसे अच्छा वेतन प्रदान करने में सक्षम है तथा ई-प्रोक्युर्मन्ट की शुरूआत के साथ ही खरीद प्रक्रिया को भी आसान तथा पारदर्शी बना दिया गया है।

 

भारतीय रेलवेज़ प्रतिदिन लगभग 23 मिलियन यात्रियों को सफर करवाता है जोकि आस्ट्रेलिया की जनसंख्या के बराबर है। उन्होने बताया कि नॉर्थ वेस्टर्न रेलवेज को लगभग 50 करोड़ रूपये सीएसआर प्रोजेक्ट के लिये मिले है। सीआईआई राजस्थान के चैयरमेन अनिल साबु ने कहा कि यह कार्यक्रम इंडस्ट्री और रेलवे के बीच एक लिंक स्थापति करने जा रहा है। सीआईआई इस लिंक को ओर मजबूत बनाने में एक सक्रिय भूमिका निभायेगा।

News & Event

Tazaa Khabre