नेशनल

भारत दुनिया की बड़ी अर्थव्यवस्था, मिलकर करेंगे व्यापार: मून

चार दिवसीय यात्रा पर भारत आये दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जेई-इन ने भारत के साथ अपने रिश्तों को लेकर साफ कर दिया है कि वह भारत के साथ अलग रिश्ते चाहता है। साथ ही जापान, चीन, उत्तर कोरिया व अन्य अन्य पड़ौसी देशों की तरह भारत के रिश्ते भी हमारे लिए अहम हैं। राष्ट्रपति मून आज पीएम नरेंद्र मोदी के साथ द्विपक्षीय वार्ता करेंगे। इस अवसर पर दोनों वैश्विक नेता द्विपक्षीय व्यापार, आपसी संबंध, सुरक्षा जैसे मुद्दों पर बातीचीत करेंगे।

 

राष्ट्रपति मून ने कहा कि भारत के साथ द्विपक्षीय कारोबार को लेकर एक विशेष समझौता किये जाने की बेहद जरुरत है। इस संबंध में दोनो देशों के बीच पहले से चल रही वार्ता का उन्होंने जल्दी से संपन्न करने का आह्वान किया। उधर भारत व दक्षिण कोरिया के वाणिज्य व उद्योग मंत्रालयों के बीच व्यापक आर्थिक साझेदारी समझौते (सीईपीए) और क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक समझौते (आरसीईए) पर विचार विमर्श हुआ।

 

मून ने कहा कि दक्षिण कोरियाई कंपनियां भारत में निवेश करने को तैयार है और हमारी सरकार भी उन्हें पूरा प्रोत्साहन दे रही है। अभी भारत दुनिया की सातवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है जबकि दक्षिण कोरिया 11वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। हालांकि दोनो देशों के बीच सिर्फ 20 अरब डॉलर का सालाना कारोबार होता है। इसे बढ़ाने की काफी संभावनाएं हैं।

 

गौरतलब है कि नोएडा में मून जेई-इन  और नरेंद्र मोदी ने संयुक्त रूप से नोएडा में सैमसंग की मोबाईल उत्पादन फैक्ट्री का उद्घाटन किया है। उत्पादन के लिहाज से यह दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी फैक्ट्री साबित होगी। सैमसंग की इस यूनिट से 70,000 लोगों को रोजगार मिलेगा।

News & Event

Tazaa Khabre