Headlines

टेक नॉलेज

मुकेश अंबानी का घर एंटीलिया, दुनिया की दूसरी सबसे महंगी इमारत

रिलायंस ग्रुप के चेयरमैन मुकेश अंबानी भारत के सबसे अमीर बिजनेसमैन हैं। मुकेश अंबानी सिर्फ अपने पैसे से नहीं बल्कि अपने शाही रहन सहन के लिए भी जाने जाते हैं। मुंबई स्थित मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया की गिनती भारत में ही नहीं बल्कि दुनिया के सबसे महंगे घरों में होती है। लंदन के  बकिंघम पैलेस के बाद एंटीलिया दुनिया की दूसरी सबसे महंगी इमारत मानी जाती है।

 

एंटीलिया मुंबई के सबसे महंगे और पॉश इलाकों में से एक अल्टामाउंट रोड कांबला हिल पर स्थित है। एंटीलिया के आर्किटेक्चर का काम शिकागो के आर्किटेक्ट पर्किन्स और विल ने किया है। जबकि ऑस्ट्रेलियाई की निर्माण कंपनी लीटन होल्डिंग्स ने इसके निर्माण का काम देखा था।

 

एंटीलिया को भूकंप रोधी बनाया गया है। 8 अंक तीव्र रिक्टर स्केल से आने वाले भूकंप को भी यह इमारत झेल सकती है। इतने तेज भूकंप से भी इमारत को कोई नुकसान नहीं होगा। यह घर विवादों में भी  रहा क्योंकि नियम के मुताबिक सिंगल फैमिली के लिए इतने बड़े घर की इजाजत मिलना मुश्किल होता है। डीम्ड घर के लिहाज से यह घर दुनिया की सबसे महंगा निजी घर है।

 

एंटीलिया में 27 फ्लोर हैं, जिसके फर्श की ऊंचाई अन्य इमारतों के फर्श से 60 गुना ज्यादा है। अगर साधारण फर्श के हिसाब से एंटीलिया का निर्माण होता तो यह 60 मंजिला इमारत होती। मुकेश अंबानी पिछले कई वर्षों से भारत के सबसे अमीर बिजनेसमैन की लिस्ट में नंबन वन बने हुए हैं। दुनिया की प्रतिष्ठित मैगजीन फोर्ब्स उन्हें कई बार इस खिताब से नवाज चुकी है।

 

एंटीलिया इमारत का विवादों से बड़ा नाता रहा है। जब यह जमीन खरीदी गई थी तो वक्फ बोर्ड ने इस जमीन पर अपना दावा किया था। वक्फ बोर्ड का दावा था कि वक्फ बोर्ड की जमीन ना खरीदी जा सकती है और ना ही बेची जा सकती है।

 

जमीन के विवाद को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाई गई लेकिन, शीर्ष अदालत ने इसे खारिज करते हुए याचिकाकर्ता को बॉम्बे हाईकोर्ट जाने की सलाह दी। तत्काली मंत्री नवाब मलिक ने यह याचिका दायर की थी। जमीन करीमभाई इब्राहिम खोजा ट्रस्ट से खरीदी गई थी। इस जमीन पर एक यतीमखान (अनाथालय) चलता था।

 

इस इमारत पर एक और विवाद का साया तब पड़ा जब एंटीलिया में हैलीकॉप्टर के लिए हैलीपेड बनाए गए। भारतीय नौसेना ने इस पर एतराज जताते हुए कहा कि यह सुरक्षा की दुष्टि से मुंबई की बिल्डिंगों पर हैलीपेड बनाने की इजाजत नहीं दी जा सकती।

News & Event

Tazaa Khabre