Headlines

नेशनल

डाउन सिंड्रोम पर राष्‍ट्रीय सम्‍मेलन' आयोजित

सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय के तहत राष्‍ट्रीय न्‍यास ने आज 'डाउन सिंड्रोम पर राष्‍ट्रीय सम्‍मेलन' आयोजित किया। राष्‍ट्रीय न्‍यास के अध्यक्ष डॉ. कमलेश कुमार पांडे ने इसका उद्घाटन किया। इस अवसर पर राष्‍ट्रीय न्‍यास के संयुक्‍त सचिव और मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी मुकेश जैन, डाउन सिंड्रोम फेडरेशन ऑफ इंडिया की अध्यक्ष डॉ. सुरेखा रामचंद्रन और डाउन सिंड्रोम से संबंद्ध विभिन्न हितधारक उपस्थित थे।

 

इस मौके पर डाउन सिंड्रोम से पीड़ित व्यक्ति के जीवन पर आधारित "ट्वीलाइट्स चिल्ड्रन" नाम की पुस्तक का भी विमोचन किया गया। सम्मेलन के जरिये डाऊन सिंड्रोम पर विचारों और ज्ञान का प्रसार करने के लिए सभी वर्ग के बुद्धिजीवी एक मंच पर एकत्रित हुए, जो डाउन सिंड्रोम से पीडि़त लोगों के मन में सकारात्मक परिवर्तन लाने में अत्‍यधिक लाभदायक था। डाउन सिंड्रोम पीडि़तों और उनके माता-पिताओं को भी उनकी प्रेरणादायक गाथा साझा करने के लिए सम्‍मेलन में आमंत्रित किया गया था।

 

डाउन सिंड्रोम क्रोमोसोम से जुड़ा विकार है, जिसमें बौद्धिक विकास और सीखने की क्षमता कम होती है। इससे ग्रसित बच्‍चों में अकसर देरी से विकास और व्‍यवहार संबंधी समस्‍याएं होती है। विभिन्‍न हितधारकों की प्रतिबद्धता और डाउन सिंड्रोम के बारे में उनकी जागरूकता बढ़ाने के लिए राष्‍ट्रीय न्‍यास ने डाउन सिंड्रोम पर इस राष्‍ट्रीय सम्‍मेलन का आयोजन किया था।

 

19 दिसंबर, 2011 को संयुक्‍त राष्‍ट्र आम सभा ने 21 मार्च को विश्‍व डाउन सिंड्रोम दिवस मनाने की घोषणा की थी। तब से डाउन सिंड्रोम से ग्रसित लोगों के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए संयुक्‍त राष्‍ट्र प्रतिवर्ष इस दिवस को आधिकारिक तौर पर मनाता है। इस सम्‍मेलन का उद्देश्‍य डाउन सिंड्रोम से ग्रसित लोगों के माता – पिताओं को इस विकार के बारे में नवीन शिक्षा और कौशल पर जानकारी प्रदान करना था। इसके अलावा डाउन सिंड्रोम से ग्रसित बच्‍चों के लिए मूल्‍यांकन/जांच सत्र भी आयोजित किए गए थे।

 

News & Event

Tazaa Khabre