Headlines

नेशनल

चीन की दोगली नीति, बातचीत के बीच सैनिकों की तैनाती बढ़ाई
china increased the number of troops amidst border dispute

नई दिल्ली। भारत चीनी सेना की हर हरकत पर नजर रख रहा है। 6 हफ्ते से बातचीत जारी है लेकिन, मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक चीन के सैनिकों की संख्या और हथियारों की तैनाती कम होने के बजाए बढ़ती जा रही है।

 

तिब्बत के क्षेत्र में भारत और चीन की हमेशा 20 हजार सैनिकों की तैनात रहती हैं, लेकिन इस बार चीन ने लगभग इतने ही जवानों की तैनाती और की है।

 

चीन ने अगर दो डिवीजन बढ़ाईं तो भारतीय सेना ने भी इस सेक्टर के लिए ट्रैंड दो डिवीजन बढ़ा दिए। टैंक्स और बीएमपी-2 इन्फैंट्री के साथ कॉ बैट व्हीकल भी हवाई रास्ते से लाए जा चुके हैं।

 

दौलत बेग ओल्डी यानी डीबीओ में भी आर्म्ड ब्रिगेड मोर्चा संभाल चुकी है। फिलहाल, पूर्वी लद्दाख में सुरक्षा का जि मा त्रिशूल इन्फेंट्री डिवीजन के पास है। यहां इसकी तीन ब्रिगेड तैनात हैं।

 

चीन डीबीओ से गलवान और काराकोरम तक बढऩे की कोशिश कर रहा है। लिहाजा, भारत भी यहां एक और डिवीजन की तैनाती पर विचार कर रहा है।

News & Event

Tazaa Khabre