Headlines

नेशनल

चुनाव से जुड़ी फेक खबरों से निपटने के लिए फेसबुक ने वोटर्स को किया जागरुक

भारत के सबसे बड़े राज्य, राजस्थान में आगामी चुनावों के दौरान इंटरनेट का पहली बार उपयोग कर रहे अनेक यूजऱ वोट देने के लिए जाएंगे। फेसबुक ने अपने प्रयास तेज किए हैं, नए टूल व टीमें तैनात की हैं, जो चुनावों को सुरक्षित करने के लिए इस प्लेटफॉर्म पर चौबीस घंटे काम कर रहे हैं।

 

फेसबुक के पब्लिक पॉलिसी डायरेक्टर, भारत एवं दक्षिण एशिया, शिवनाथ ठुकराल ने कहा, ‘‘फेसबुक के पास दुनिया में प्रजातंत्र के लिए सकारात्मक शक्ति बनने की अपार क्षमता है। फेसबुक हर उम्र व राजनैतिक विश्वास वाले लोगों को आवाज़ देता है, यह बहस एवं विचारों के स्वस्थ आदान-प्रदान को प्रोत्साहित करता है। राजस्थान भारत का सबसे बड़ा राज्य है, जहां चुनाव हो रहे हैं। इसलिए हमने भ्रामक जानकारी से लडऩे के लिए अपनी कार्ययोजना में पूरा निवेश किया है और इस बात का पूरा प्रयास कर रहे हैं कि चुनाव के लिए सुरक्षित प्रक्रिया का पालन हो।

 

उन्होंने आगे कहा, ‘‘हमारा काम चुनावों में होने वाली अभद्रता से लड़ाई तक ही सीमित नहीं। हमारी टीमें सकारात्मक नागरिक अनुबंध का विकास कर रही हैं। चुनाव के दिन से पूर्व हम पॉलिंग डे रिमाईंडर द्वारा समुदाय को सेवाएं देते हैं, जो उनकी न्यूजफ़ीड में सबसे ऊपर दिखाई देता है।

 

फेसबुक ने झूठी खबरों से निपटने के लिए अपने फैक्ट चेकिंग कार्यक्रम का विस्तार किया है और 22 देशों में फैक्ट चेकिंग पार्टनर्स के साथ साझेदारी की है। यह चुनाव से पूर्व नागरिक जुड़ाव को बढ़ावा देने के लिए काम कर रहा है और अविश्वसनीय व्यवहार को पहचानने के लिए इसने इंजीनियरिंग में काफी संशोधन किए हैं।

 

News & Event

Tazaa Khabre