Headlines

नेशनल

एक दिन में सबसे ज्यादा ठीक हुए 36,000 कोरोना पेशेंट, अस्पताल से छुट्टी
corona

कोविड-19 के सक्रिय मामलों से ठीक होने वालों की संख्या का अंतर बढ़कर 4 लाख से अधिक हुआ
 

ठीक होने (रिकवरी) की दर ने नए उच्च स्तर को छुआ और आज यह लगभग 64 प्रतिशत हुई

कल एक ही दिन में कोविड-19 से ठीक हुए लोगों की संख्या में सबसे ज्यादा बढ़ोतरी दर्ज की गई। पिछले 24 घंटों में, कोविड-19 के 36,145 रोगी ठीक हुए और उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। इसके साथ ठीक हुए मामलों की कुल संख्या बढ़कर 8,85,576 हो गई है। ठीक होने की दर भी नए उच्च स्तर पर पहुंच गई है और यह बढ़कर 64 प्रतिशत के नजदीक हो गई है, आज यह 63.92 प्रतिशत है।

 

इसका मतलब है कि ज्यादा रोगी ठीक हो रहे हैं और इस प्रकार से कोविड-19 से ठीक हुए और सक्रिय मामलों के बीच का अंतर लगातार व्यापक रूप से बढ़ रहा है। यह अंतर 4 लाख से ज्यादा हो गया है और यह वर्तमान में 4,17,694 है। ठीक हुए मामले, सक्रिय मामलों (4,67,882) से 1.89 गुना ज्यादा हैं।

 

केंद्र सरकार ने सभी राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों की सरकारों को कोविड-19 महामारी का प्रभावी प्रबंधन करने के लिए "जांच, खोज, उपचार" रणनीति को जारी रखने और उसे प्रभावी रूप से लागू करने की सलाह दी है। पहली बार एक ही दिन में रिकॉर्ड संख्या में 4,40,000 से ज्यादा लोगों की जांच की गई।

 

पिछले 24 घंटों में 4,42,263 नमूनों की जांच के साथ, प्रति मिलियन परीक्षण (टीपीएम) की संख्या बढ़कर 11,805 हो गई है और कुल परीक्षण की संख्या 1,62,91,331 हो गई है। पहली बार सरकारी प्रयोगशालाओं ने 3,62,153 नमूनों की जांच करके एक नया रिकॉर्ड बनाया है। निजी प्रयोगशालाओं ने भी एक ही दिन में 79,878 नमूनों की जांच कर नई ऊंचाई प्राप्त कर ली है।

 

सार्वजनिक और निजी क्षेत्र के प्रयासों के संयोजन से, अस्पताल के बुनियादी ढांचे को बढ़ावा देने के साथ-साथ त्वरित परीक्षण से कोविड-19 रोगियों की शीघ्र पहचान और गंभीर रोगियों की पहचान को सक्षम बनाया है जिससे मौतों की संख्या में कमी आई है। परिणामस्वरूप, मृत्यु दर के मामलों में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है और यह वर्तमान में 2.31 प्रतिशत है। भारत दुनिया के सबसे कम मृत्यु दर वाले देशों में से एक है।

News & Event

Tazaa Khabre