Headlines

नेशनल

राहुल को पिता राजीव और चाचा संजय से विरासत में मिली है प्लेन उड़ाने की कला, शेयर किया भावुक कर देने वाला किस्सा

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने अपने चाचा संजय गांधी को लेकर बड़ा खुलासा किया है। दरअसल, राहुल गांधी युवा कांग्रेंस की और से लगाई गई प्रदर्शनी को देखने पहुंचे थे। प्रदर्शनी में चित्रों को देखकर राहुल भावुक हो गए और अपने पिता राजीव गांधी के विमान उड़ाने के शौक को लेकर अपने सोशल मीडिया अकाउंट से एक वीडियो जारी किया है।

 

राहुल गांधी ने बताया कि उनके चार्चा के पास प्लेन उड़ाने का अनुभव था लेकिन, हादसे वाले दिन उन्हें मेरे पिता यानि राजीव गांधी ने प्लेन उड़ाने से मना किया था। लेकिन वह नहीं माने, अगर वे मेरे पिता की बात मान लेते तो शायद यह हादसा नहीं होता।  आपको बता दें कि संजय गांधी विमान उड़ाने के शौकीन थे और 23 जून, 1980 को एक विमान दुर्घटना में उनकी मौत हो गई थी। बेहद ही आक्रमक प्लेन उड़ाने का शौक रखने वाले संजय गांधी के बारे में राहुल ने बताया कि इस तरह के प्लेन उड़ाने के लिए उनके पास नाकाफी अनुभव था। इसलिए मेरे पिता उनके प्रति चिंतित रहते थे।

 

उन्होंने इसको लेकर चाचा को मना भी किया था। लेकिन, वह नही मानते थे। राहुल ने बताया कि उन्हें तीन सौ से साढ़े तीन सौ घंटे विमान उड़ाने का अनुभव था। इतना ही अनुभव मुझे है। राहुल ने आगे बताया कि मेरे पिता भी प्लेन उड़ाने के काफी शौकीन थे। मेरी मां भी उनके प्लने उड़ाने के शौक के कारण चिंतित रहती थीं। अक्सर पिता मुझे प्लेन के कॉकपिट में बैठाते थे और मैं उनसे प्लने से संबंधित सवाल पूछता था तो वह बड़े ही संयम के साथ हर सवाल का जवाब बड़ी ही बारिकी से समझाते थे। आपको बता दें कि राहुल गांधी भी एक लासेंसशुदा पॉयलट हैं।

 

हालांकि, उनके पास प्लेन उड़ाने का प्रोफेशनल अनुभव कम हैं। राहुल गांधी की प्रारंभिक शिक्षा दिल्ली के सेंट कोलंबस स्कूल में की और इसके बाद वो प्रसिद्ध दून विद्यालय में पढऩे चले गये। सन 1981-83 तक सुरक्षा कारणों के कारण राहुल गांधी को अपनी पढ़ाई घर से ही करनी पड़ी। राहुल ने हार्वर्ड विश्वविद्यालय के रोलिंस कॉलेज फ्लोरिडा से सन 1994 में कला स्नातक की उपाधि प्राप्त की। इसके बाद सन 1995 में कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय के ट्रिनिटी कॉलेज से एम.फिल. की उपाधि प्राप्त की।

 

News & Event

Tazaa Khabre